Author Topic: ==* अभी बाकी है *==  (Read 509 times)

Offline SHASHIKANT SHANDILE

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 369
  • Gender: Male
  • शशिकांत शांडिले, नागपुर
==* अभी बाकी है *==
« on: February 10, 2016, 04:41:49 PM »
क्या हुवा गर टूट गया बिखरना तेरा बाकी है
डालीसे थोडा दूर भले खुशबु अभी बाकी है

महकने दे औरोको तेरे नामसे चोटही खानी है
थक जाये गर अभीसे ऐसे जिंदगानी बाकी है

दो अनजान लोगोको तेरी चमक मिलायेगी
मदतसे तेरी पगले दिल और धड़कने बाकी है

छोड़ न फर्ज तू ऐसे लिख्खे तेरे इस तक़दीर का
देख मेरे दोस्त तेरा मुरझाना अभीभी बाकी है
-------------------­-**--------
✒ शशिकांत शांडिले, नागपूर
भ्रमणध्वनी - ९९७५९९५४५०
Its Just My Word's

शब्द माझे!

Marathi Kavita : मराठी कविता