Author Topic: Shayari  (Read 1120 times)

Offline Ajal Shayar

  • Newbie
  • *
  • Posts: 8
Shayari
« on: December 05, 2017, 12:42:39 PM »


गुजारीश है रब से की
मेरी याददास्त खो जाए
या तुझे भुलने का कोई
और रास्ता दीखा जाए

अजल


Marathi Kavita : मराठी कविता