Author Topic: तेरे बिना  (Read 338 times)

Offline Ajal Shayar

  • Newbie
  • *
  • Posts: 8
तेरे बिना
« on: December 07, 2017, 08:45:33 PM »


तेरे बीना

तु मुझसे प्यार न करती,
तो कोई बात न थी।
प्यार करके जो गम दे गयी,
इस गम के अंधेरे मे
उजाला लाऊ कैसे।
तूही बता तेरे बीना
ये जींदगी बीताऊ कैसे।

तु मेरी ना होती
तो कोई बात न थी।
मेरी होकर भी मेरी न रही,
यह दिल को समझाऊ कैसे।
तूही बता तेरे बीना
ये जींदगी बीताऊ कैसे।

तु मुझपे एहसान ना करती
तो कोई बात न थी।
कर्जदार बना दीया तेरे एहसान ने,
अब यह कर्ज चुकाऊ कैसे।
तूही बता तेरे बीना
ये जींदगी बीताऊ कैसे।

दिल टूट जाता तो
कोई बात न थी।
यह तो फट गया है जगह जगह,
अब इसे सीलाऊ कैसे।
तूही बता तेरे बीना
ये जींदगी बीताऊ कैसे।

अजल



Marathi Kavita : मराठी कविता