Author Topic: चिंतन  (Read 145 times)

Offline शिवाजी सांगळे

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 1,317
  • Gender: Male
  • या जन्मावर, या जगण्यावर, शतदा प्रेम करावे.....
चिंतन
« on: September 01, 2018, 08:11:35 AM »
चिंतन

क्या जीवन चिंतन है
बीते हुए उम्र का!
या शोध है यह?
बचें हुए पलों का?

अजीब कश्मकश
सैलाब सवालों का,
गुम होते हुए अपने
अस्तित्व के खोज का!

क्या, ढूंढ पाते है?
ब्रह्मांड के कणों को?
बिखरें हुए, अनगिनत
मन की व्यथाओं को?

© शिवाजी सांगळे 🎭
 संपर्क:९५४५९७६५८९

Marathi Kavita : मराठी कविता