Author Topic: बदनाम ना कर  (Read 333 times)

Offline dineshnick39

  • Newbie
  • *
  • Posts: 13
बदनाम ना कर
« on: May 31, 2018, 10:04:03 PM »
नूर ये गुलशन इस तरह मुझसे तू
येतबार ना कर
मेरे घायल दिल को नजरं अंदाज ना कर
तेरे लिये न जाणे कितनि करवटे बदली
है हमणे बे वजह इस
आशिक ए दिल को
मैफिल में बदनाम ना कर

Marathi Kavita : मराठी कविता