Author Topic: तेरी कहानी  (Read 373 times)

Offline Sachin01 More

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 204
  • Gender: Male
तेरी कहानी
« on: May 23, 2015, 01:06:58 PM »
क्या है औरत तेरी कहानी,
जिस्म के लिए कहलाती है राणी
सच बोले तो तु कहलाती पापीणी!
कोई आपबीती ना सही गलती तो बता,
जन्मे इस पृथ्वी पर यहा रीत है न्यारी !
खुद तो भरी है संसार कि प्रीत से,
काश !कोई जीने देता दो पल खुशी से !
पुरुषी अहंकार को क्यु सुनते है लोग,
मेहनत करे तो भी
तुझे दासी कहलाते है लोग !
इन्सानो कि बस्ती तो अन्याय का कोठा है,
हर कोई शोषन का भुकेला है !
ना है फायदा किसी पढाई का ना है इन्सानियत का,
क्यु सह लेती है जानवरो जैसा अन्याय तु !
तु तो रनमैदानो की निडर झाशी की रानी,
लाखो मनो को समानता सिखाने वाले आंबेडकर की जननी,
इस जहाँ की कोमल कली तु
यूँना मुरझा तु दिखाकितनी कठोर तु!

Marathi Kavita : मराठी कविता