Author Topic: पालनहार  (Read 502 times)

Offline sanjay limbaji bansode

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 260
पालनहार
« on: July 17, 2015, 10:06:04 AM »
ना किसीको किसीसे प्यार
चढ़ गया पैसों का बुखार
तू कहाँ है पालनहार
तेरा बदल गया संसार !!

लाखों बच्चे तेरे यहाँ पे
भूकसे मर रहे है !
धर्मके ठेकेदार यहाँपे
दूधसे पत्थर धो रहे है !!

फटी हुईं साड़ी पहनके
जी रही गरीब नारी
मिट्टी के ऊपर चढ़ रहे है
चदर कहीँ पे भारी !!

सच्चाई के बोल यहाँ पर
अब हो गये भंगार !
तू कहाँ है पालनहार
तेरा बदल गया संसार !!

नाम लेकर तेरा यहाँ पे
सारे शोर मचा रहे है !
ना सच्चा भगवान समजा किसीने
सारे अंधविश्वास मे खो गये है  !!

सोने का भगवान हो गया
चाँदी का दरवाजा !
गरीब यहाँ पे भुका मर गया
अमीर रखता है उपास और रोजा !!

सच कहे कोई यहाँ पे
हो गया गोली का शिकार !
तू कहाँ है पालनहार
तेरा बदल गया संसार !!


संजय बनसोडे
9819444028




« Last Edit: July 17, 2015, 10:09:05 AM by sanjay bansode »

Marathi Kavita : मराठी कविता