Author Topic: * देखे मैने *  (Read 623 times)

Offline कवी-गणेश साळुंखे

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 882
  • Gender: Male
* देखे मैने *
« on: January 20, 2015, 11:03:25 AM »
शराफत के नकाब
उतरते देखे मैने
मासुमियत के परदे
जलते देखे मैने
मौहब्बत के बाजार
कोठेमें देखे मैने
बस कुछ कागजके
तुकडे या अपने
मतलब के लिए
देखे मैने...!
कवी-गणेश साळुंखे...!
Mob-7715070938
Mumbai

Marathi Kavita : मराठी कविता