Author Topic: * कटी पतंग *  (Read 515 times)

Offline कवी-गणेश साळुंखे

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 882
  • Gender: Male
* कटी पतंग *
« on: October 12, 2015, 11:25:13 PM »
क्या सुनाऊँ तुमको यारों
आँसू भरी है दास्तान मेरी
एक कटी हुई पतंग
के जैसी कहानी है मेरी.
कवी - गणेश साळुंखे.
Mob - 7715070938

Marathi Kavita : मराठी कविता