Author Topic: चारोळी  (Read 1447 times)

Offline ap01827

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 116
चारोळी
« on: November 10, 2014, 10:39:58 AM »

Marathi Kavita : मराठी कविता


Rupesh Dambepkar

  • Guest
Re: चारोळी
« Reply #1 on: November 11, 2014, 12:47:59 PM »
मोहब्बत भी अजीब चीज
बनायीं खुदा तूने,
तेरे ही मंदिर में,
तेरी ही मस्जिद में,
तेरे ही बंदे,
तेरे ही सामने रोते हैं,
तुझे नहीं, किसी और को पाने के लिए......

Rupesh Dambepkar

  • Guest
Re: चारोळी
« Reply #2 on: November 11, 2014, 12:49:17 PM »
I love you

Offline ap01827

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 116
Re: चारोळी
« Reply #3 on: November 12, 2014, 08:38:04 PM »
अभिप्रायाबद्दल धन्यवाद !