Author Topic: बहार  (Read 466 times)

Offline ap01827

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 116
बहार
« on: November 23, 2014, 03:35:13 PM »
बहार देखने के लिये
भला हम कश्मीर क्यू जायें
तेरा दीदार ही अब हमे
जन्नत का मज्जा दिया करेगा !

संदीप लक्ष्मण नाईक

Marathi Kavita : मराठी कविता