Author Topic: इश्क  (Read 464 times)

Offline Shraddha R. Chandangir

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 346
  • Gender: Female
इश्क
« on: May 02, 2015, 10:10:08 AM »
जबसे इस इश्क मे वफा कर बैठे है
लगता है मस्जिद में जफा कर बैठे है।
एक मुद्दत से खुदकी खबर हि नहीं ली
एक मुद्दत से खुदको खफा कर बैठे है।
~ अनामिका (8 March)

( जफा- जुर्म)

Marathi Kavita : मराठी कविता