Author Topic: हथियारों कि जरुरत ना पडती  (Read 289 times)

Offline Sachin01 More

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 204
  • Gender: Male
नफरत के बीज न बोये होते,
तो दुश्मनी की फसली ना उपती,
प्यार से मसला सुलाते तो,
हथियारों कि जरुरत ना पडती,
ना बंदुक, ना बम , तलवार ना चाकू,
किस से आप जोड पाते है इन्सान,
खुशियों को निछावर करके,
करते है ना अपना ही नुकसान,
काश! मोहब्बत को समझ पाते लोग,
किसी के दु:ख पे न हसते ये लोग.
ना लाचारी से शरमाते ये लोग,
बहुत याद आते ये लोग.
जज्बातो को कमरे मे कैद करके,
हवस के मारे निकले हुए जानवरों,
दुनिया को जितोगे बंदूक की गोली से नही,
प्यार कि सुनहरी मुस्कान से,
न बदलेगा संसार ना बदलेगा इन्सान,
इमान बेच के खुद का ही करेगा नुकसान,
कहता हूँ यारो गाली से नही,
दुनिया को चाहीए छोटी सी मुस्कान,