Author Topic: किसी लड़की से प्रेम होना क्या है?  (Read 1597 times)

Offline balrambhosle

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 122
  • Gender: Male

ये प्रेम तब होता है जब आपका किसी अपने के ऊपर का प्रेम कम होता है. वैसे ही जैसे एक दोस्त छुटनेपर आप दूसरा दोस्त बनालेते है, लेकिन दोस्ती थोड़ी अलग संकल्पना है क्यूं की आप एकसाथ बहोत सरे दोस्त बना सकते हो.
मगर प्रेम, प्रेम किसी एक ही प्रेमिका के साथ हो सकता है. अगर मई अपना अनुभव बताऊ तो, तो मुझे किसी लड्किसे प्रेम कभी नहीं हुवा. इसका भी एक कारन है. जो मैं आपको फिर कभी विश्लेषण के साथ बताऊंगा.
एक सवाल है.
क्या प्रेम सभी को होता है?
तो जवाब है नहीं. अगर आप पूछते हो कैसे तो इसका भी जवाब मेरे पास है.
प्रेम उन लोगो को नहीं होता, जिनको दुनिया से भिक की कोई गुंजाईश नहीं होती. जैसे की ज्यादातर लोग करते है, भिक की अपेक्षा.
वो लोग जो खुदको सबसे अकलमंद और होशियार मानते है, और हमेशा खुदको सबसे परे मानते है उन लोगो के दिलमे कभी किसी लड़की के प्रेम की इच्छा नहीं होती. क्यूं की उनकेलिए दुनिया में सबसे खुबसूरत और अजीज वे खुद ही होते है. दुसरे प्रेम करने वालो को वो लोग अपने से कई गुना निचे होने का दर्जा देते है. कहा जाये तो वे उनको चुतिया समझते है और उनके प्रेम को चुतियापा समझते है. उनकी नजर में लड़की और लड़का इन दो चीजो के माईने किसी निर्जीव वास्तु की भांति नीरस है. उनके लिए लडकियाँ मतलब किताब का एक ऐसा पन्ना जिसके ऊपर कोई ऐसा चित्र बनाया हुवा है जिसे देखकर न उसकी प्रशंसा करनी पड़े और न उसको सही ढंग से परख्नेमे अपना समय व्यथित करना पड़े. वे सिर्फ उसके ऊपर नजर घुमाकर टाल देते है.
असलियत में प्रेम सभी को होता है. लेकिन ये प्रेम होना तब बंद हो जाता है जब आपको खुदकी पहचान हो जाती है. जब आपको लगने लगता है ..आपसे अच्छा इंसान इस दुनिया में कोई नहीं है. तब आप ऐसी अपेक्षा करने लगते है की लोगो को आपके प्रेम की आवश्यकता है ना की आपको लोगोके. कुछ लोगोको ये एहसास बहोत जल्दी हो जाता तो कुछ लोगो को ये जिंदगीभर भी पता नहीं चलता की वो कोण है. और वो लड़कियों को प्रेम करने के मायाजाल में बुरी तरह से फास जाते है.
लेकिन जो लोग प्रेम नहीं करते उनके बारे में मई कुछ बहुत ही अजीब बात लिखनेवाला हु..
वो ये है की..जिन लोगो को प्रेम नहीं होता उनको सृष्टि में बनी कुछ चीजो से नफरत हो जाती है. जैसे की सूरज की रौशनी, जो हमेशा असलियत दिखाती है. और पानी जो चीजो के ऊपर के पर्दों को हटा देता है. ये लोग कभी दुनिया के सामने आना नहीं चाहते है. इनको दुनियासे कुछ भी चाहिए नही होता. और इन लोगोको बस अकेले ही रहने में अच्चा लगता है. बास यही सच्चाई है.
b.s. bhosle

Marathi Kavita : मराठी कविता


Rupali kale

  • Guest
Prem
« Reply #1 on: April 16, 2013, 07:48:46 PM »
Lekh to accha hai lekin muze ek bat bataiye aap ka pyar me dhokha dene walo ke prati kya vichar hai? Plz reply on fb

Offline balrambhosle

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 122
  • Gender: Male

 

With Quick-Reply you can write a post when viewing a topic without loading a new page. You can still use bulletin board code and smileys as you would in a normal post.

Name: Email:
Verification:
एक गुणिले दहा किती ? (answer in English number):