Author Topic: ...जिन्दगी...  (Read 797 times)

Offline manish@26s

  • Newbie
  • *
  • Posts: 30
  • Gender: Male
  • being silent is my attitude
...जिन्दगी...
« on: December 26, 2014, 09:09:34 AM »
...जिंन्दगी....
                     ( मनिष.ह.सासे )


जिंन्दगी जीने का इक
 रास्ता सिखा रही है  ।।
मक्सत में कामियाब
होना ही सही ....
जिन्दगी जीना नही है  ।।


 जिन्दगी देने वाला
काश जिन्दगी
 देता होगा इक बार
उसे जीओ ऐसे की
जैसे जीये हो हजार साल


सस्ते चीजो का शॉक तो
हम भी नही रखते है   ।।
लेकिन क्या करू....,,
जिन्दगी ही ऐसे मोड़ पर है  ।।
के सस्ते चीजो बिना....,,
जिन्दगी के रास्ते नही कटते  है ।।


जिन्दंगी जीते समय
मुझे बहुत कुछ
सिखा रही है  ।।
प्यार से जीओ ...,
प्यार से जीने दो...,
 
क्यों की जिंदगी ना
मिलेगी दोबारा


जिसने भेजा तुझे
 इस जँहा में उसे
 कभी भूल न पाना ।।
 सर्व धर्म, समभाव के प्रति
 साथ ही जिन्दगी जिना ।।

मदत की जरुरत पडे
किसी को तो
पीछे कभी न हटना ।।
जिन्दगी मिलती है
इक बार उसे
सच्चे मन से जिना  ।।

दरबदर मेरी जिन्दगी
 अपने समाज  के नाम है ।।
 जिसने मुझे जीना सीखाया
 उस नैतिक नियती का यह  काम है ।।
 
                     ...कवि...( मनिष.ह .सासे )

                 ( 8554907176 )
From...,
                किन्हवली,
         ता.. शहापुर

Marathi Kavita : मराठी कविता