Author Topic: रोज़.....  (Read 3297 times)

anolakhi

  • Guest
रोज़.....
« on: July 15, 2009, 08:10:32 PM »
रोज़.....

रोज़ तुला विसरतो , रोज़ तुला आठवतो ,


रोज़ काहीतरी ठरवतो , रोज़ काहीतरी मिटवतो ,


रोज़ स्वतःला सोपवतो ,रोज़ स्वतःला परत मागतो ,


रोज़ तुझी अपेक्षा करतो , रोज़ स्वतःची उपेक्षा करतो ,


रोज़ रात्री जागवतो , रोज़ पहाट लाम्बवतो ,


रोज़ स्वतःला थाम्बवतो , रोज़ स्वतःला सोडवतो ,


रोज़ शहानपण दाखवतो , रोज़ वेड्या सारखा वागतो ,


रोज़ बावरतो , रोज़ सावरतो ,


रोज़ तुझ्यातच हरवतो , रोज़ तुझ्यातच सापडतो ,



रोज़ स्वतःला संपवतो ,रोज़ सतःला जगवतो...

Marathi Kavita : मराठी कविता


Offline marathimulga

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 85
  • Gender: Male
    • shivaji maratha
Re: रोज़.....
« Reply #1 on: July 15, 2009, 08:56:14 PM »
This is really go0o0od poem ,,..,,



keep i t uP,.,,!!!!! >:( ;)