Author Topic: दो शायरियाँ  (Read 669 times)

Offline nitinkumar

  • Newbie
  • *
  • Posts: 17
  • Gender: Male
  • Ek Premveda
दो शायरियाँ
« on: February 20, 2015, 03:28:38 PM »
दो शायरियाँ

(1)
तेरी ज़ुकी नाज़रोने
दीवाना बना दिया
वो दर्द भी तूने निग़ाहों से
अदा कर दिया

            तेरी नज़रबंद लब्जोंने
            जिना सीखा दिया
            मेरी सूखे आसूवोंको
            हँसना सीखा दिया


- नितीनकुमार

(2)

दिलोजान से गहरा
है रिश्ता हमारा
तू समां और में
दीवाना तुम्हारा

           दिल की तमन्ना है
           के तुम पास आओ
           तुम्हारी यादों में है
           सदियाँ गुज़ारा


- नितीनकुमार


Marathi Kavita : मराठी कविता