Author Topic: दिल का कसुर, क्या है दिल की खता।  (Read 729 times)

Offline yogesh desale

  • Newbie
  • *
  • Posts: 15
दिल का कसुर, क्या है दिल की खता। -
          - योगेश देसले
      (9967682021)
दिल का कसुर, क्या है दिल की खता।
जानेमन बता तूने, क्यू ना की वफा।।

दिल को मेरे कोडे मार के, तुझको क्या मिला।
फिर भी दिल में प्यार है, तेरा ही बसा।।

आगे आगे तू,  तेरे पिछे में चला।
मोडपे छुटा साथ, में खो ही गया।।

दिवाना बना, तेरा परवाना बना।
पागल भी बना, पर प्यार ना मिला।।