Author Topic: जिंदगी एक शतरंज  (Read 3131 times)

Offline सतीश भूमकर

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 152
  • Gender: Male
  • माझ्या उनाड कविता..
जिंदगी एक शतरंज
« on: October 12, 2013, 12:19:41 AM »
जिंदगी एक शतरंज का खेल है
मै तो इस खेलका छोटा प्यादा हुं
चाहे लाख हाथी घोडे मुझे रोके
मुझे बस अपने मंजिल तक जाना है
क्यू के मैने सुना है के ईस खेलमे
प्यादा आखरी घरमें अगर जाये
तो वजीर बन जाता है और
वही वजीर किंग को गिराता है —

@सतीश भूमकर

Marathi Kavita : मराठी कविता